Jyotish RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

मुहूर्त 2017

muhurat 2017

क्या है शुभ मुहूर्त?

मुहूर्त वह विचार है जिसके माध्यम से हम जीवन में होने वाले शुभ और मांगलिक कार्यों के शुभारंभ के लिए समय और तिथि का निर्धारण करते हैं। अगर सरल शब्दों में परिभाषित करें तो किसी अच्छे समय का चयन कर किसी कार्य का शुभारंभ ही मुहूर्त कहलाता है। हिंदू वैदिक ज्योतिष विज्ञान के अनुसार हर शुभ और मंगल कार्य को आरंभ करने का एक निश्चित वक्त होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि उस खास समय में ग्रह और नक्षत्र के प्रभाव से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और शुभ फल की प्राप्ति होती है। हिंदू धर्म में जन्म, विवाह, गृह प्रवेश समेत कई शुभ और मांगलिक कार्यों की शुरुआत मुहूर्त देखकर की जाती है।

मुहूर्त को लेकर किए गए कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि, ग्रह और नक्षत्रों की स्थिति की गणना करके ही मुहूर्त का निर्धारण किया जाता है। प्राचीन काल से ही हिंदू धर्म में मुहूर्त को महत्व दिया जाता रहा है। इसके अलावा हर महत्वपूर्ण और शुभ कार्य के दौरान यज्ञ और हवन करने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि यज्ञ व हवन से उठने वाला धुआं वातावरण को शुद्ध करता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। मुहूर्त और उससे जुड़ी पौराणिक मान्यताओं के चलते हिंदू धर्म में आज भी इसका महत्व बरकरार है। हमारे समाज में लोग आज भी मांगलिक कार्यों का शुभारंभ और सफलतापूर्वक संपन्न होने की कामना के लिए शुभ घड़ी का इंतज़ार करते हैं।मुहूर्त की महत्वता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि, प्राचीन काल में स्वयं राजा, महाराजा शुभ मुहूर्त के अनुसार सभी समारोह का आयोजन किया करते थे। आज के आधुनिक युग में धार्मिक आस्था और मान्यताओं की उपेक्षा होने लगी है। यही वजह है कि मुहूर्त को लेकर हर व्यक्ति की अपनी एक सोच है। हालांकि वक्त के साथ-साथ समाज कितना भी बदल जाए लेकिन हमें हमारी संस्कृति, पुरातन और धार्मिक मान्यताओं को हर हाल में संरक्षित रखना चाहिए।

क्यों होती है शुभ मुहूर्त की आवश्यकता ?

मुहूर्त को लेकर अलग-अलग तर्क और धारणाओं के बीच, हमें चाहिए कि हम स्वयं जीवन में इसकी प्रासंगिकता और महत्व का अवलोकन करें। मुहूर्त की आवश्यकता क्यों होती है ? दरअसल मुहूर्त एक विचार है, जो इस धारणा का प्रतीक है कि एक तय समय और तिथि पर शुरू होने वाला कार्य शुभ व मंगलकारी होगा और जीवन में खुशहाली लेकर आएगा। ब्रह्मांड में होने वाली खगोलीय घटनाओं का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। क्योंकि विभिन्न ग्रहों की चाल के फलस्वरूप जीवन में परिवर्तन आते हैं। ये बदलाव हमें अच्छे और बुरे समय का आभास कराते हैं। इसलिए यह आवश्यक हो जाता है कि हम वार, तिथि और नक्षत्र आदि की गणना करके कोई कार्य आरंभ करें, जो शुभ फल देने वाला साबित हो।

खास अवसरों पर शुभ मुहूर्त का महत्व..

शुभ मुहूर्त किसी भी मांगलिक कार्य को शुरू करने का वह शुभ समय होता है जिसमें तमाम ग्रह और नक्षत्र उत्तम परिणाम देने वाले होते हैं। हमारे जीवन में कई शुभ और मांगलिक अवसर आते हैं। इन अवसरों पर हमारी कोशिश रहती है कि ये अवसर और भी भव्य व बिना किसी रुकावट के शांतिपूर्वक संपन्न हों। ऐसे में हम इन कार्यों की शुरुआत से पूर्व शुभ मुहूर्त के लिए ज्योतिषी की सलाह लेते हैं। लेकिन विवाह ,मुंडन और गृह प्रवेश समेत जैसे खास समारोह पर मुहूर्त का महत्व और भी बढ़ जाता है। विवाह जीवन भर साथ निभाने का एक अहम बंधन है इसलिए इस अवसर को शुभ बनाने के लिए हर परिवार शुभ घड़ी का इंतज़ार करता है ताकि उनके बच्चों के जीवन में सदैव खुशहाली बनी रहे। इसके अलावा कई अवसर जैसे गृह प्रवेश, प्रॉपर्टी और वाहन खरीदी जैसे कई कामों में भी शुभ मुहूर्त देखने की परंपरा है।

कैसे होती है मुहूर्त की गणना ?

हिंदू वैदिक ज्योतिष में पंचांग का बड़ा महत्व होता है। क्योंकि पंचांग की मदद से ही मुहूर्त की गणना की जाती है। पंचांग के 5 अंग; वार, तिथि, नक्षत्र, योग और करण की गणना के आधार पर मुहूर्त निकाला जाता है। इनमें तिथियों को पांच भागों में बांटा गया है। नंदा, भद्रा, जया, रिक्ता, और पूर्णा तिथि है। उसी प्रकार पक्ष भी दो भागों में विभक्त है; शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष। वहीं नक्षत्र 27 प्रकार के होते हैं। एक दिन में 30 मुहूर्त होते हैं। इनमें सबसे पहले मुहूर्त का नाम रुद्र है जो प्रात:काल 6 बजे से शुरू होता है। इसके बाद क्रमश: हर 48 मिनट के अतंराल पर आहि, मित्र, पितृ, वसु, वराह, विश्वेदवा, विधि आदि होते हैं। इसके अलावा चंद्रमा और सूर्य के निरायण और अक्षांश को 27 भागों में बांटकर योग की गणना की जाती है।

इसके अलावा शुभ मुहूर्त जानने के लिए निम्न कारक भी अहम होते हैं।

  • ग्रहों की चाल और उनकी स्थिति।
  • पंचांग के जरिए उक्त दिन में चंद्रमा के संचरण की स्थिति को सुनिश्चित करना।
  • शुभ नक्षत्र को ध्यान में रखना।
  • विभिन्न समारोह और आयोजनों के लिए मुहूर्त अलग-अलग होते हैं।

इन सभी कारकों की गणना के बाद शुभ मुहूर्त निकाला जाता है ताकि घर परिवार में होने वाले समस्त कार्य शुभ और मंगलकारी हो।

सावधानियां

भारत जैसे हिंदू बहुलतावादी देश में मुहूर्त का बेहद खास महत्व है। ऐसे में ज़रूरी है कि हर कार्य के लिए सही मुहूर्त का चयन किया जाए। आजकल कई टीवी, इंटरनेट और समाचार पत्र में कई तीज, त्यौहार और व्रत से जुड़े मुहूर्त का उल्लेख होता है लेकिन फिर भी भ्रम की स्थिति हो तो एक बार ज्योतिषी से ज़रूर संपर्क करें। खासकर विवाह, मुंडन और गृह प्रवेश आदि कार्यों के लिए बिना ज्योतिष सलाह के आगे नहीं बढ़ें। हिंदू धर्म में मुहूर्त के बिना कोई भी शुभ कार्य करना उचित नहीं माना जाता है। क्योंकि शुभ घड़ी पर किया गया हर कार्य बिना किसी व्यवधान के संपन्न हो जाता है, साथ ही शुभ मुहूर्त पर शुरू किया गया हर कार्य जीवन में सफलता, सुख-समृद्धि और खुशहाली लेकर आता है।

साल 2017 में अन्नप्रशान, मुंडन, गृह प्रवेश और नामकरण समेत कई मंगल कार्यों के लिए शुभ मुहूर्त।

अन्नप्रशान मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
02 जनवरी चतुर्थी सोमवार धनिष्ठा, पंचमी
05 जनवरी सप्तमी गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
13 जनवरी प्रतिपदा शुक्रवार पुष्य नक्षत्र द्वितीय
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
30 जनवरी तृतीय सोमवार शतभिषा नक्षत्र 11: 30 से पहले
01 फरवरी पंचमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार 2: 43 से पहले रोहिणी नक्षत्र
09 फरवरी तृतीया गुरुवार 9:22 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
13 फरवरी तृतीया सोमवार 8: 59 से 4:45 के बीच उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
15 फरवरी पंचमी बुधवार हस्ता/चित्रा नक्षत्र
16 फरवरी पंचमी गुरुवार 07:24 के बाद चित्रा नक्षत्र
24 फरवरी त्रयोदशी शुक्रवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र/श्रवण नक्षत्र
27 फरवरी प्रतिपदा सोमवार 05:50 से पहले शतभिषा नक्षत्र
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र
08 मार्च एकादशी बुधवार 11:32 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
09 मार्च द्वादशी गुरुवार 08:59 से पहले पुष्य नक्षत्र
15 मार्च तृतीया बुधवार 10:30 से पहले चित्रा नक्षत्र
23 मार्च दशमी गुरुवार 13:28 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
29 मार्च द्वितीया बुधवार रेवती नक्षत्र
05 अप्रैल नवमी बुधवार 10:04 के बाद पुष्य नक्षत्र
12 अप्रैल प्रतिपदा बुधवार 13:15 के बाद स्वाती नक्षत्र
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र
24 अप्रैल त्रयोदशी सोमवार 07:22 के बाद उत्तरा भाद्रपद
28 अप्रैल द्वितीया शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
08 अप्रैल त्रयोदशी सोमवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार 05:29 के बाद अनुराधा नक्षत्र
18 मई सप्तमी गुरुवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
29 मई चतुर्थी सोमवार 11:07 के बाद पुनर्वसू नक्षत्र/पुष्य नक्षत्र
12 जून तृतीया सोमवार 10:50 से 12:19 के बीच में उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र
30 जून सप्तमी शुक्रवार 05:53 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाती नक्षत्र
06 जुलाई त्रयोदशी गुरुवार अनुराधा नक्षत्र
13 जुलाई चतुर्थी गुरुवार 14:45 के बाद शतभिषा नक्षत्र
21 जुलाई त्रयोदशी शुक्रवार 12:48 के बाद मृगशिरा नक्षत्र
27 जुलाई चतुर्थी गुरुवार 07:01 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
28 जुलाई पंचमी शुक्रवार हस्ता नक्षत्र
02 अगस्त दशमी बुधवार अनुराधा नक्षत्र
07 अगस्त पूर्णिमा सोमवार 11:08 के बाद श्रवण नक्षत्र
09 अगस्त द्वितीया बुधवार शतभिषा नक्षत्र
10 अगस्त तृतीया गुरुवार शतभिषा नक्षत्र
23 अगस्त द्वितीया बुधवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
24 अगस्त तृतीया गुरुवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
04 सितंबर त्रयोदशी सोमवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
06 सितंबर पूर्णिमा बुधवार शतभिषा नक्षत्र
07 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र, द्वितीया
08 सितंबर द्वितीया शुक्रवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र/ रेवती नक्षत्र
15 सितंबर दशमी शुक्रवार 07:33 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
21 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार 10:35 के बाद हस्ता नक्षत्र
22 सितंबर द्वितीया शुक्रवार चित्रा नक्षत्र/स्वाति नक्षत्र
25 सितंबर पंचमी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
05 अक्टूबर पूर्णिमा गुरुवार 13:03 के बाद उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
15 नवंबर द्वादशी बुधवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
23 नवंबर पंचमी गुरुवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
29 नवंबर दशमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र

गृह प्रवेश मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
01 फरवरी पंचमी बुधवार रेवती नक्षत्र
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार रोहिणी नक्षत्र
18 फरवरी सप्तमी शनिवार अनुराधा नक्षत्र
06 मार्च नवमी सोमवार मृगशिरा नक्षत्र
19 अप्रैल अष्टमी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 के बाद धनिष्ठा नक्षत्र
22 अप्रैल एकादशी शनिवार शतभिषा नक्षत्र
28 अप्रैल द्वितीया शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
06 मई एकादशी शनिवार 08:04 से उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
08 मई त्रयोदशी सोमवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र, द्वितीया
17 मई षष्ठी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
18 मई सप्तमी गुरुवार धनिष्ठा नक्षत्र
19 मई अष्टमी शुक्रवार धनिष्ठा नक्षत्र/शतभिषा नक्षत्र
22 मई एकादशी सोमवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र/ रेवती नक्षत्र
26 मई प्रतिपदा शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
27 मई द्वितीया शनिवार मृगशिरा नक्षत्र
29 मई चतुर्थी सोमवार पुष्य नक्षत्र
03 जून नवमी शनिवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र/ हस्ता नक्षत्र, दशमी
05 जून एकादशी सोमवार चित्रा नक्षत्र/ स्वाती नक्षत्र
12 जून तृतीया सोमवार 12:19 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र
30 जून सप्तमी शुक्रवार 05:53 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र
05 जुलाई द्वादशी बुधवार अनुराधा नक्षत्र
06 जुलाई त्रयोदशी गुरुवार अनुराधा नक्षत्र
13 जुलाई चतुर्थी गुरुवार शतभिषा नक्षत्र, पंचमी

कर्णभेद मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
06 जनवरी अष्टमी शुक्रवार रेवती नक्षत्र
09 जनवरी द्वादशी सोमवार रोहिणी नक्षत्र
18 जनवरी षष्ठी बुधवार 12:49 से पहले हस्ता नक्षत्र
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
20 जनवरी अष्टमी शुक्रवार 12:35 से पहले स्वाति नक्षत्र
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
30 जनवरी तृतीया सोमवार 11:31 से पहले शतभिषा नक्षत्र
01 फरवरी पंचमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार 14:53 से पहले रोहिणी नक्षत्र
08 फरवरी द्वादशी बुधवार 12:14 के बाद आद्रा नक्षत्र/पुनर्वसू नक्षत्र
09 फरवरी त्रयोदशी गुरुवार 09:22 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
13 फरवरी तृतीया सोमवार 08:59 से 16:45 के बीच उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
16 फरवरी पंचमी गुरुवार 07:24 के बाद चित्रा नक्षत्र
17 फरवरी षष्ठी शुक्रवार 09:26 से पहले स्वाति नक्षत्र
24 फरवरी त्रयोदशी शुक्रवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र/श्रवण नक्षत्र
27 फरवरी प्रतिपदा सोमवार 05:50 से पहले शतभिषा नक्षत्र
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र
02 मार्च चतुर्थी गुरवार 13:04 के बाद अश्विनी नक्षत्र
08 मार्च एकादशी बुधवार 11:32 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
09 मार्च द्वादशी गुरुवार 08:59 से पहले पुष्य नक्षत्र
13 मार्च प्रतिपदा सोमवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
15 मार्च तृतीया बुधवार 10:30 से पहले चित्रा नक्षत्र
23 मार्च दशमी गुरुवार 13:28 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
24 मार्च एकदाशी शुक्रवार श्रवण नक्षत्र
29 मार्च द्वितीया बुधवार रेवती नक्षत्र
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र
24 अप्रैल त्रयोदशी सोमवार 07:22 से पहले उत्तरा भाद्रपदा नक्षत्र
01 मई षष्ठी सोमवार पुनर्वसू नक्षत्र
08 मई त्रयोदशी सोमवार हस्ता नक्षत्र
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र, द्वितीया
17 मई षष्ठी बुधवार 16:32 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र/श्रवण नक्षत्र
18 मई सप्तमी गुरुवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
22 मई एकादशी सोमवार उत्तरा भाद्रपदा नक्षत्र/ रेवती नक्षत्र
29 मई चतुर्थी सोमवार 11:07 के बाद पुनर्वसू नक्षत्र/पुष्य नक्षत्र
05 जून एकादशी सोमवार 09:43 के बाद चित्रा नक्षत्र
12 जून तृतीया सोमवार 12:19 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र
30 जून सप्तमी शुक्रवार 05:53 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र

नामकरण मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
02 जनवरी चतुर्थी सोमवार धनिष्ठा नक्षत्र, पंचमी
05 जनवरी सप्तमी गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
06 जनवरी अष्टमी शुक्रवार रेवती नक्षत्र
09 जनवरी द्वादशी सोमवार रोहिणी नक्षत्र
13 जनवरी प्रतिपदा शुक्रवार पुष्य नक्षत्र, द्वितीया
18 जनवरी षष्ठी बुधवार 12:49 से पहले हस्ता नक्षत्र
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
20 जनवरी अष्टमी शुक्रवार 12:35 से पहले स्वाति नक्षत्र
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
30 जनवरी तृतीया सोमवार शतभिषा नक्षत्र
01 फरवरी पंचमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार 14:53 से पहले रोहिणी नक्षत्र
08 फरवरी द्वादशी बुधवार 12:14 के बाद पुनर्वसू नक्षत्र
09 फरवरी त्रयोदशी गुरुवार 09:22 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
13 फरवरी तृतीया सोमवार 08:59 से 16:45 के बीच में उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
15 फरवरी पंचमी बुधवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
16 फरवरी पंचमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
17 फरवरी षष्ठी शुक्रवार 09:26 से पहले स्वाति नक्षत्र
24 फरवरी त्रयोदशी शुक्रवार श्रवण नक्षत्र
27 फरवरी प्रतिपदा सोमवार 05:50 से पहले शतभिषा नक्षत्र
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र
02 मार्च चतुर्थी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र, पंचमी
08 मार्च एकादशी बुधवार 11:32 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
09 मार्च द्वादशी गुरुवार 08:59 से पहले पुष्य नक्षत्र
13 मार्च प्रतिपदा सोमवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
15 मार्च तृतीया बुधवार 10:30 से पहले चित्रा नक्षत्र
22 मार्च नवमी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
23 मार्च दशमी गुरुवार 13:28 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
24 मार्च एकादशी शुक्रवार श्रवण नक्षत्र
29 मार्च द्वितीया बुधवार रेवती नक्षत्र
05 अप्रैल नवमी बुधवार पुष्य नक्षत्र, दशमी
12 अप्रैल प्रतिपदा बुधवार 09:00 से पहले चित्रा नक्षत्र/स्वाति नक्षत्र
19 अप्रैल अष्टमी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र
24 अप्रैल त्रयोदशी सोमवार 07:22 के बाद उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
28 अप्रैल द्वितीया शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
01 मई षष्ठी सोमवार पुनर्वसू नक्षत्र
08 मई त्रयोदशी सोमवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र, द्वितीया
17 मई षष्ठी बुधवार 16:32 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र/श्रवण नक्षत्र
18 मई सप्तमी गुरुवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
19 मई अष्टमी शुक्रवार धनिष्ठा नक्षत्र/शतभिषा नक्षत्र
22 मई एकादशी सोमवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र/रेवती नक्षत्र
26 मई प्रतिपदा शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
29 मई चतुर्थी सोमवार 11:07 के बाद पुनर्वसू नक्षत्र/पुष्य नक्षत्र
05 जून एकादशी सोमवार 09:43 के बाद चित्रा नक्षत्र
12 जून तृतीया सोमवार 10:50 से 12:19 के बीच उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र
05 जुलाई द्वादशी बुधवार अनुराधा नक्षत्र
06 जुलाई त्रयोदशी गुरुवार अनुराधा नक्षत्र
13 जुलाई चतुर्थी गुरुवार 14:45 के बाद शतभिषा नक्षत्र
17 जुलाई अष्टमी सोमवार अश्विनी नक्षत्र
20 जुलाई द्वादशी गुरुवार रोहिणी नक्षत्र
21 जुलाई त्रयोदशी शुक्रवार 12:48 के बाद मृगशिरा नक्षत्र
24 जुलाई प्रतिपदा सोमवार पुष्य नक्षत्र
27 जुलाई चतुर्थी गुरुवार 07:01 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
28 जुलाई पंचमी शुक्रवार हस्ता नक्षत्र
31 जुलाई अष्टमी सोमवार स्वाति नक्षत्र
02 अगस्त दशमी बुधवार अनुराधा नक्षत्र
09 अगस्त द्वितीया बुधवार शतभिषा नक्षत्र
10 अगस्त तृतीया गुरुवार शतभिषा नक्षत्र
17 अगस्त दशमी गुरुवार 12:44 के बाद मृगशिरा नक्षत्र
23अगस्त द्वितीया बुधवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
24 अगस्त तृतीया गुरुवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
04 सितंबर त्रयोदशी सोमवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
07 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
08 सितंबर द्वितीया शुक्रवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र /रेवती नक्षत्र
13 सितंबर अष्टमी बुधवार मृगशिरा नक्षत्र
15 सितंबर दशमी शुक्रवार 07:33 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
20 सितंबर अमावस्या बुधवार 11:00 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र
21 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार हस्ता नक्षत्र
22 सितंबर द्वितीया शुक्रवार चित्रा नक्षत्र
25 सितंबर पंचमी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
02 अक्टूबर द्वादशी सोमवार 11:44 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र
06 अक्टूबर प्रतिपदा शुक्रवार 15:10 के बाद रेवती नक्षत्र
09 अक्टूबर चतुर्थी सोमवार 14:17 से 15:53 के बीच रोहिणी नक्षत्र
09नवंबर षष्ठी गुरुवार 16:42 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र, पुष्य नक्षत्र
15 नवंबर द्वादशी बुधवार हस्ता नक्षत्र/चित्रा नक्षत्र
23 नवंबर पंचमी गुरुवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
27 नवंबर अष्टमी सोमवार शतभिषा नक्षत्र
29 नवंबर दशमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
04 दिसंबर प्रतिपदा सोमवार मृगशिरा नक्षत्र

मुंडन मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
18 जनवरी षष्ठी बुधवार हस्ता नक्षत्र
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
23 जनवरी एकादशी सोमवार ज्येष्ठा नक्षत्र
30 जनवरी तृतीया सोमवार शतभिषा नक्षत्र
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार रोहिणी नक्षत्र
08 फरवरी द्वादशी बुधवार पुनर्वसू नक्षत्र
09 फरवरी त्रयोदशी गुरुवार पुनर्वसू नक्षत्र
15 फरवरी पंचमी बुधवार हस्ता नक्षत्र
17 फरवरी षष्ठी शुक्रवार स्वाति नक्षत्र
24 फरवरी त्रयोदशी शुक्रवार श्रवण नक्षत्र
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र
02 मार्च चतुर्थी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र
08 मार्च एकादशी बुधवार 11:32 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र
22 अप्रैल एकादशी शनिवार शतभिषा नक्षत्र(वैश्य के लिए)
30 अप्रैल पंचमी रविवार मृगशिरा नक्षत्र(ब्राह्मण के लिए)
02 मई सप्तमी मंगलवार पुष्य नक्षत्र(क्षत्रिय के लिए)
08 मई त्रयोदशी सोमवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
13 मई द्वितीया शनिवार ज्येष्ठा नक्षत्र (वैश्य के लिए)
16 मई पंचमी मंगलवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र(क्षत्रिय के लिए)
18 मई सप्तमी गुरुवार श्रवण नक्षत्र/धनिष्ठा नक्षत्र
23 मई द्वादशी मंगलवार अश्विनी नक्षत्र(क्षत्रिय के लिए)
27 मई द्वितीया शनिवार मृगशिरा नक्षत्र(वैश्य के लिए)
29 मई चतुर्थी सोमवार 11:07 के बाद पुनर्वसू नक्षत्र/पुष्य नक्षत्र
30 मई पंचमी मंगलवार पुष्य नक्षत्र(क्षत्रिय के लिए)
03 जून नवमी शनिवार 06:52 के बाद हस्ता नक्षत्र(वैश्य के लिए)
06 जून द्वादशी मंगलवार 11:43 के बाद स्वाति नक्षत्र (क्षत्रिय के लिए)
20 जून एकादशी मंगलवार अश्विनी नक्षत्र(क्षत्रिय के लिए)
25 जून द्वितीया रविवार पुनर्वसू नक्षत्र (ब्राह्मण के लिए)
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र

विद्यारंभ मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
16 जनवरी चतुर्थी सोमवार पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र, पंचमी
18 जनवरी षष्ठी बुधवार 12:49 से पहले हस्ता नक्षत्र
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
29 जनवरी द्वितीया रविवार 13:03 के बाद धनिष्ठा नक्षत्र
30 जनवरी तृतीया सोमवार शतभिषा नक्षत्र
01 फरवरी पंचमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र
06 फरवरी दशमी सोमवार रोहिणी नक्षत्र
08 फरवरी द्वादशी बुधवार आर्दा नक्षत्र
13 फरवरी तृतीया सोमवार पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र
15 फरवरी पंचमी बुधवार हस्ता नक्षत्र
16 फरवरी पंचमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र
17 फरवरी षष्ठी शुक्रवार 09:26 से पहले स्वाति नक्षत्र
22 फरवरी एकादशी बुधवार पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र
02 मार्च चतुर्थी गुरुवार 13:04 के बाद अश्विनी नक्षत्र में
08 मार्च एकादशी बुधवार 11:32 से पहले पुनर्वसू नक्षत्र में
09 मार्च द्वादशी गुरुवार 08:59 से पहले पुष्य नक्षत्र में
21 अप्रैल दशमी शुक्रवार 17:01 से पहले धनिष्ठा नक्षत्र में
23 अप्रैल द्वादशी रविवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
28 अप्रैल द्वितीया शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र
30 अप्रैल पंचमी रविवार मृगशिरा नक्षत्र/आर्दा नक्षत्र में
01 मई षष्ठी सोमवार आर्दा नक्षत्र/पुनर्वसू नक्षत्र में
05 मई दशमी शुक्रवार 15:38 से पहले पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में
07 मई द्वादशी रविवार 15:01 से पहले उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र/हस्ता नक्षत्र में
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र,द्वितीया
17 मई षष्ठी बुधवार 16:32 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र/श्रवण नक्षत्र में
21 मई दशमी रविवार 05:23 से पहले पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में
28 मई तृतीया रविवार 10:42 से पहले आर्दा नक्षत्र में
05 जून एकादशी सोमवार 09:46 से पहले चित्रा नक्षत्र में
11 जून द्वितीया रविवार मूल नक्षत्र/पुनर्वसू नक्षत्र में
25 जून द्वितीया रविवार पुनर्वसू नक्षत्र में
29 जून षष्ठी गुरुवार 07:05 से पहले पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में

2017 वाहन व मशीनरी की खरीदी-ब्रिकी से संबंधित मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
06 जनवरी अष्टमी शुक्रवार रेवती नक्षत्र में अष्टमी
07 जनवरी नवमी शनिवार अश्विनी नक्षत्र में, दशमी
13 जनवरी प्रतिपदा शुक्रवार पुष्य नक्षत्र में
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र में
26 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र में
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र में
15 फरवरी पंचमी बुधवार चित्रा नक्षत्र में
16 फरवरी पंचमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र में
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र में
02 मार्च चतुर्थी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र में
09 मार्च द्वादशी गुरुवार पुष्य नक्षत्र में
15 मार्च तृतीया बुधवार 10:30 से पहले चित्रा नक्षत्र में
18 मार्च षष्ठी शनिवार अनुराधा नक्षत्र में
29 मार्च द्वितीया बुधवार रेवती नक्षत्र में
02 अप्रैल षष्ठी रविवार मृगशिरा नक्षत्र में
05 अप्रैल नवमी बुधवार पुष्य नक्षत्र में
12 अप्रैल प्रतिपदा बुधवार चित्रा नक्षत्र में
30 अप्रैल पंचमी रविवार मृगशिरा नक्षत्र में
08 मई त्रयोदशी सोमवार चित्रा नक्षत्र में
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र में, द्वितीया
22 मई एकादशी सोमवार रेवती नक्षत्र में
27 मई द्वितीया शनिवार 14:40 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
29 मई चतुर्थी सोमवार पुष्य नक्षत्र में
03 जून नवमी शनिवार हस्ता नक्षत्र
05 जून एकादशी सोमवार 09:43 के बाद चित्रा नक्षत्र में
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र में
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र में
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र में
05 जुलाई द्वादशी बुधवार अनुराधा नक्षत्र में
06 जुलाई त्रयोदशी गुरुवार अनुराधा नक्षत्र में
17 जुलाई अष्टमी सोमवार अश्विनी नक्षत्र में
21 जुलाई त्रयोदशी शुक्रवार 12:48 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
24 जुलाई प्रतिपदा सोमवार पुष्य नक्षत्र में
29 जुलाई षष्ठी शनिवार चित्रा नक्षत्र
30 जुलाई सप्तमी रविवार 08:07 से पहले चित्रा नक्षत्र/स्वाति नक्षत्र में
31 जुलाई अष्टमी सोमवार स्वाति नक्षत्र में
02 अगस्त दशमी बुधवार अनुराधा नक्षत्र में
09 अगस्त द्वितीया बुधवार शतभिषा नक्षत्र में
10अगस्त तृतीया गुरुवार शतभिषा नक्षत्र
12 अगस्त पंचमी शनिवार 13:51 से पहले रेवती नक्षत्र में
17 अगस्त दशमी गुरुवार 12:44 के बाद मृगशिरा नक्षत्र में
26अगस्त पंचमी शनिवार चित्रा नक्षत्र
13 सितंबर अष्टमी बुधवार मृगशिरा नक्षत्र में
21 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार हस्ता नक्षत्र में
22 सितंबर द्वितीया शुक्रवार चित्रा नक्षत्र में
25 सितंबर पंचमी सोमवार अनुराधा नक्षत्र में
06 अक्टूबर प्रतिपदा शुक्रवार 15:10 के बाद रेवती नक्षत्र में
07 अक्टूबर द्वितीया शनिवार अश्विनी नक्षत्र में
11 अक्टूबर षष्ठी बुधवार 09:10 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
14 अक्टूबर दशमी शनिवार पुष्य नक्षत्र में
20 अक्टूबर प्रतिपदा शुक्रवार चित्रा नक्षत्र में
22 अक्टूबर तृतीया रविवार अनुराधा नक्षत्र में
09 नवंबर षष्ठी गुरुवार 16:42 से पहले पुष्य नक्षत्र में
15 नवंबर द्वादशी बुधवार चित्रा नक्षत्र
19 नवंबर प्रतिपदा रविवार अनुराधा नक्षत्र में
04 दिसंबर प्रतिपदा सोमवार मृगशिरा नक्षत्र में
13 दिसंबर एकादशी बुधवार चित्रा नक्षत्र में
16 दिसंबर त्रयोदशी शनिवार 07:11 से पहले अनुराधा नक्षत्र में
28 दिसंबर दशमी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र में
 

नया व्यवसाय शुरू करने के लिए मुहूर्त 2017

 
दिनांक तिथि वार टिप्पणी
05 जनवरी सप्तमी गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में
06 जनवरी अष्टमी शुक्रवार रेवती नक्षत्र में, अष्टमी
07 जनवरी नवमी शनिवार अश्विनी नक्षत्र में, दशमी
13 जनवरी प्रतिपदा शुक्रवार पुष्य नक्षत्र में
18 जनवरी षष्ठी बुधवार 12:49 से पहले हस्ता नक्षत्र में
19 जनवरी सप्तमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र में
23 जनवरी एकादशी सोमवार अनुराधा नक्षत्र
01 फरवरी पंचमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में
02 फरवरी षष्ठी गुरुवार रेवती नक्षत्र में
03 फरवरी सप्तमी शुक्रवार अश्विनी नक्षत्र में
06 फरवरी दशमी सोमवार रोहिणी नक्षत्र में
13 फरवरी तृतीया सोमवार 16:45 से पहले उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
15 फरवरी पंचमी बुधवार हस्ता नक्षत्र/चित्रा नक्षत्र
16 फरवरी पंचमी गुरुवार चित्रा नक्षत्र में
19 फरवरी अष्टमी रविवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
01 मार्च तृतीया बुधवार रेवती नक्षत्र में
02 मार्च चतुर्थी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र में,पंचमी
05 मार्च अष्टमी रविवार 17:02 के बाद रोहिणी नक्षत्र में
09 मार्च द्वादशी गुरुवार पुष्य नक्षत्र में
15 मार्च तृतीया बुधवार 10:30 से पहले चित्रा नक्षत्र में
18 मार्च षष्ठी शनिवार अनुराधा नक्षत्र में
22 मार्च नवमी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
23 मार्च दशमी गुरुवार 13:28 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
29 मार्च द्वितीया बुधवार रेवती नक्षत्र में
01 अप्रैल पंचमी शनिवार रोहिणी नक्षत्र में
02 अप्रैल षष्ठी रविवार मृगशिरा नक्षत्र में
05 अप्रैल नवमी बुधवार पुष्य नक्षत्र में, दशमी
09 अप्रैल त्रयोदशी रविवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
12 अप्रैल प्रतिपदा बुधवार चित्रा नक्षत्र में
19 अप्रैल अष्टमी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
28 अप्रैल द्वितीया शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र में
30 अप्रैल पंचमी रविवार मृगशिरा नक्षत्र में
07 मई द्वादशी रविवार 15:01 से पहले उत्तरा फाल्गुनी/हस्ता नक्षत्र में
08 मई त्रयोदशी सोमवार हस्ता/चित्रा नक्षत्र
12 मई प्रतिपदा शुक्रवार अनुराधा नक्षत्र, द्वितीया
17 मई षष्ठी बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
22 मई एकादशी सोमवार उत्तरा भाद्रपद/रेवती नक्षत्र में
26 मई प्रतिपदा शुक्रवार रोहिणी नक्षत्र में
27 मई द्वितीया शनिवार 14:40 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
29 मई चतुर्थी सोमवार पुष्य नक्षत्र में
03 जून नवमी शनिवार उत्तरा फाल्गुनी/ हस्ता नक्षत्र, दशमी
05 जून एकादशी सोमवार 09:43 के बाद चित्रा नक्षत्र में
12 जून तृतीया सोमवार 10:50 से 12:19 के बीच उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
19 जून दशमी सोमवार 14:20 से पहले रेवती नक्षत्र में
26 जून तृतीया सोमवार पुष्य नक्षत्र में
30 जून सप्तमी शुक्रवार 05:53 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
03 जुलाई दशमी सोमवार स्वाति नक्षत्र में
05 जुलाई द्वादशी बुधवार अनुराधा नक्षत्र में
06 जुलाई त्रयोदशी गुरुवार अनुराधा नक्षत्र में
15 जुलाई सप्तमी शनिवार 09:02 से पहले उत्तरा भाद्रपद में
17 जुलाई अष्टमी सोमवार अश्विनी नक्षत्र में
20 जुलाई द्वादशी गुरुवार रोहिणी नक्षत्र में
21 जुलाई त्रयोदशी शुक्रवार 12:48 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
24 जुलाई प्रतिपदा सोमवार पुष्य नक्षत्र में
27 जुलाई चतुर्थी गुरुवार 07:01 के बाद उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
28 जुलाई पंचमी शुक्रवार हस्ता नक्षत्र में
29 जुलाई षष्ठी शनिवार हस्ता/ चित्रा नक्षत्र में
30 जुलाई सप्तमी रविवार 08:07 से पहले चित्रा/स्वाति नक्षत्र में
31 जुलाई अष्टमी सोमवार स्वाति नक्षत्र में
02 अगस्त दशमी बुधवार अनुराधा नक्षत्र में
09 अगस्त द्वितीया बुधवार शतभिषा नक्षत्र में
10 अगस्त तृतीया गुरुवार शतभिषा नक्षत्र में
12 अगस्त पंचमी शनिवार 13:51 से पहले रेवती नक्षत्र में
17 अगस्त दशमी गुरुवार 12:44 के बाद मृगशिरा नक्षत्र में
23 अगस्त द्वितीया बुधवार उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में
24 अगस्त तृतीया गुरुवार उत्तरा फाल्गुनी/हस्ता नक्षत्र में
26 अगस्त पंचमी शनिवार चित्रा नक्षत्र में
02 सितंबर एकादशी शनिवार 09:38 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
03 सितंबर द्वादशी रविवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
07 सितबंर प्रतिपदा गुरुवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में
08 सितंबर द्वितीया शुक्रवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र/ रेवती नक्षत्र में
13 सितंबर अष्टमी बुधवार मृगशिरा नक्षत्र में
21 सितंबर प्रतिपदा गुरुवार हस्ता नक्षत्र में
22 सितंबर द्वितीया शुक्रवार चित्रा नक्षत्र में
25 सितंबर पंचमी सोमवार अनुराधा नक्षत्र में
30 सितंबर दशमी शनिवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
05 अक्टूबर पूर्णिमा गुरुवार 13:03 के बाद उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में
06 अक्टूबर प्रतिपदा शुक्रवार 15:10 के बाद रेवती नक्षत्र में
07 अक्टूबर द्वितीया शनिवार अश्विनी नक्षत्र में
11 अक्टूबर षष्ठी बुधवार 09:10 से पहले मृगशिरा नक्षत्र में
14 अक्टूबर दशमी शनिवार पुष्य नक्षत्र में
20 अक्टूबर प्रतिपदा शुक्रवार चित्रा नक्षत्र में
22 अक्टूबर तृतीया रविवार अनुराधा नक्षत्र में
27 अक्टूबर सप्तमी शुक्रवार 14:45 से पहले उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
01 नवंबर द्वादशी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में
02 नवंबर त्रयोदशी गुरुवार 13:46 से पहले उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र/रेवती नक्षत्र में
06 नवंबर तृतीया सोमवार 09:30 से 14:38 के बीच रोहिणी नक्षत्र में
09 नवंबर षष्ठी गुरुवार 16:42 से पहले पुष्य नक्षत्र में
15 नवंबर द्वादशी बुधवार हस्ता नक्षत्र/ चित्रा नक्षत्र
19 नवंबर प्रतिपदा रविवार अनुराधा नक्षत्र
23 नवंबर पंचमी गुरुवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
29 नवंबर दशमी बुधवार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र
03 दिसंबर पूर्णिमा रविवार 11:09 के बाद रोहिणी नक्षत्र में
04 दिसंबर प्रतिपदा सोमवार मृगशिरा नक्षत्र में
13 दिसंबर एकादशी बुधवार चित्रा नक्षत्र में
16 दिसंबर त्रयोदशी शनिवार 07:11 से पहले अनुराधा नक्षत्र में
20 दिसंबर द्वितीया बुधवार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
21 दिसंबर तृतीया गुरुवार 09:21 के बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में
28 दिसंबर दशमी गुरुवार अश्विनी नक्षत्र में
31 दिसंबर त्रयोदशी रविवार रोहिणी नक्षत्र में
More from: Jyotish
36842

ज्योतिष लेख