Jyotish RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

जनवरी 2015 राशिफल

जनवरी 2015 के राशिफल के साथ हम हाज़िर हैं। अब जानिए अपने भविष्य के राज़ जनवरी के राशिफल के साथ और बदल दीजिए अपनी किस्मत। जनवरी राशिफल 2015 पं हनुमान मिश्रा द्वारा लिखित है।

वर्ष 2015 की शुभकामनाओं के साथ-साथ हम हाजिर आपके जनवरी 2015 के राशिफ़ल के साथ। जिसके माध्यम से आप जान पाएंगे कि जनवरी का महीना आपके लिए कैसा रहेगा। इसे जानकर आप अनुकूल समय का लाभ उठा पाएंगे और जो समय आपके लिए प्रतिकूल है उस समय सावधानी से काम लेकर परेशानियों से बच पाएंगे। तो आइए बात करते हैं इस माह के राशिफल की:

मेष

इस महीने की शुरुआत में शुक्र, बुध, और मंगल आपके भाग्य स्थान पर हैं। अत: महीना काफ़ी अच्छा रहने की उम्मीद है। लगभग अधिकांश कामों में सफलता मिलने के योग हैं। यदि कोई केश चल रहा है तो उसके आपके फ़ेवर में आने की संभावनाएं बन सही हैं। सूर्य भी मासारम्भ में भाग्य स्थान पर रहेगा जबकि मासांत में कर्म स्थान पर अत: मासांत कें और भी बेहतर रहने के योग हैं।

उपाय: पिता या पिता तुल्य व्यक्ति की सेवा करें।

वर्ष 2015 का राशिफल अभी पढ़ें!

वृषभ

महीने के प्रथम पक्ष वाले दिनों में अधिकांश ग्रह अनुकूल हैं; अत: परिणाम भी अनुकूल रहने वाले हैं। हालांकि केवल सूर्य ग्रह की स्थिति अधिक ठीक नहीं है। वह मासारम्भ में अष्टम भाव में स्थित रहेगा अत: इस समय कुछ अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इस समय कुछ नया करने से भी बचना होगा लेकिन महीने के दूसरे भाग में काफ़ी अनुकूलता रहेगी। सब कुछ ठीक रहेगा।

उपाय: सूर्य भगवान को जल देना शुभ रहेगा।

मिथुन

मंगल-शुक्र-बुध कुण्डली के अष्टम में हैं। सूर्य सप्तम में है अत: अनुकूल परिणाम पाने के लिए काफ़ी प्रयास करना होगा। पूरे धैर्य के साथ कामों को अंजाम देना होगा। इस समय क्रोध करने बचना होगा। कोई भी बड़ा निर्णय लेनें से बचें। यदि कोई व्यापारिक निर्णय लेना बहुत ही जरूरी हो तो बहुत सूझ बूझ के साथ ही लें। जीवन साथी घरेलू परेशानियों के कारण भी आपके मन में चिंताए रह सकती हैं व्यथित रह सकते हैं।

उपाय: परेशानी की स्थिति में सिंदूर मिले जल से सूर्य को अर्घ दें।

कर्क

इस महीने आपको मिले जुले परिणाम मिलने वाले हैं। मासारम्भ में कर्मेश मंगल उच्च का है जो कामों में सफलता देगा लेकिन सप्तम में होने के कारण निजी जीवन में कुछ तनाव भी दे सकते हैं। सूर्य छ्ठे भाव में हैं अत: आपका उत्साह और ऊर्जा आपको सफलता दिलाएंगे। महीने के दूसरे भाव में सूर्य सप्तम में होगा अत: कुछ घरेलू समस्याएं उभर सकती हैं। इस समय घर पारिवार और स्वास्थ्य का खयाल रखें।

उपाय: बजरंग बाण का पाठ करना शुभ रहेगा।

सिंह

वैसे तो लगभग यह पूरा महीना ही आपके लिए शुभ रहेगा। आपका उत्साह और ऊर्जा आपको सफलता दिलाएगी। इस समय आप औरों से आगे निकलते नज़र आएगें। द्वितीयेश छठे भाव में है अत: वाणी पर संयम रखना बहुत जरूरी होगा। कुछ पारिवारिक विवाद भी हो सकते हैं। फिर भी सामाजिक प्रतिष्ठा के बढ़ने और नौकरी क हालात में सुधार होने के भी अच्छे योग बन रहे हैं।

उपाय: विष्णु भगवाने के मंदिर में संतरे दान करना शुभ रहेगा।

वर्ष 2015 का राशिफल अभी पढ़ें!

कन्या

यह माह सावधानी पूर्वक निर्वहन करने का महीना है। इस महीने क्रोधावेश में अप्रिय सम्भाषण करने से बचना होगा। अनुकूल परिणाम पाने के लिए तुलनात्मक दृष्टि से अधिक मेहनत करने के लिए तैयार रहना होगा। कभी-कभी स्वयं को थका हुआ भी अनुभव कर सकते हैं। हालांकि महीने के दूसरे भाग में तुलनात्मक रूप से बेहतर परिणाम मिलेंगे लेकिन फिर भी अधिक उत्साही होकर कोई निर्णय करने से बचना बेहतर रहेगा।

उपाय: हनुमान जी को चोला चढ़ाएं।

तुला

सामान्य तौर पर यह महीन आपके लिए बेहतर रहने वाला है। आपका आत्मविश्वास आपको लगातार विजय दिलाने वाला है। भाई बन्धु और मित्र मददगार होंगे। हालांकि कुछ खर्चे भी इस समय रह सकते हैं। लेकिन ये खर्चे जायज मामलों में होंगे। हां महीने के दूसरे भाग में तुलनात्मक रूप से अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। कुछ घरेलू मामले थोड़ी सी चिंता दे सकते हैं। ऐसे में धैर्य के साथ काम करना होगा।

उपाय: कष्ट या परेशानी होने की स्थिति में कन्याओं को भोजन करवाना शुभ रहेगा।

वृश्चिक

इस महीने आपको मिले जुले फल मिलने वाले हैं। महीने की शुरुआत में कुछ आर्थिक मामलों को लेकर चिंतन मंथन सम्भव है। इस समय कुछ छोटी-मोटी गलतियां भी सम्भव हैं लेकिन कोशिश करने पर इनसे बचा भी जा सकेगा। महीने का दूसरा पक्ष आपकी समस्याओं को दूर करने वाला रहेगा। आपका आत्मविश्वास आपको विजय दिलाएगा। यार-दोस्त मदगार होंगे।

उपाय: परेशानी की स्थिति में हनुमान जी के मंदिर लाल रंग का फ़ल या सब्जी दान करना शुभ रहेगा।

धनु

यह महीना आपके लिए मिले जुले परिणाम लेकर आया है। इस समय अगर आप क्रोध और अहंकार से बच गए तो आपकी इज्जत में बढ़ोत्तरी होने के अच्छे योग हैं। लेकिन इस समय हल्के फ़ुल्के बुखार की परेशानी रह सकती है। आपको सरकार या किसी संगठन के द्वारा सम्मानित किया जा सकता है। लेकिन महीने के दूसरे भाग में भी आर्थिक व पारिवारिक मामलों के सावधानी की जरूरत रहेगी।

उपाय: शिवलिंग पर शहद चढ़ाना शुभ रहेगा।

मकर

महीने की शुरुआत में अधिकांश कामों को सूझ-बूझ के साथ निबटाएं। हालांकि कोई बड़ी बिसंगति आने के योग नहीं हैं लेकिन फिर भी मासारंभ में सूर्य के द्वादस भाव में होने के कारण कोई बड़े निर्णय न ही लें तो बेहतर रहेगा। महीने के दूसरे भाग में तुलनात्मक रूप से सुधार के योग हैं। फिर भी अपना तथा घर परिवार के स्वास्थ्य का खयाल रखें। आवेश में आकर कोई निर्णय न लें।

उपाय: नित्य 11 बार गायत्री मंत्र का जप करें।

कुम्भ

सामान्य तौर पर इस महीने आपको अच्छे परिणाम ही मिलेंगे लेकिन ऐसा हो सकता है कि आप आवेश या जोश में आकर कोई निर्णय लेने के मूड में रहें। बेहतर तो यही होगा कि आप ऐसा करने से बचें क्योंकि ऐसा करने पर आपके विरोधियों को अधिक फायदा हो सकता है। हालांकि कठिनाइयां होने के बाद भी लाभ होता रहेगा लेकिन महीने के दूसरे भाग में सावधानी की जरूरत बढ़ जाएगी। स्वास्थ्य का भी खयाल रखना होगा।

उपाय: गाय को हरा चारा खिलाएं।

मीन

सामान्य रूप से यह पूरा महीना ही आपके लिए अनुकूल रहेगा। महीने के प्रथम भाग में आप अपने लम्बित पड़े कामों को निबटा सकेंगे। आप अपने कार्य व्यापार में बहुत अच्छा करेंगे। आपके वरिष्ठ आपसे खुश रहेंगे। वरिष्ठों का सहयोग मिलेगा। कुछ व्यापारिक यात्राएं भी सम्भावित हैं। महीने के दूसरे भाग में अच्छा लाभ मिलता नज़र आ रहा है। भाई-बन्धुओं का सहयोग मिलेगा।

उपाय: किसी गरीब को काले उडद की दाल का दान करना शुभ रहेगा।

वर्ष 2015 का राशिफल अभी पढ़ें!

तो आशा है, इस राशिफ़ल के माध्यम से आप अपने अच्छे और बुरे समय को जानकर उस समय उचित व्यवहार कर इस साल के शुरुआती माह यानी जनवरी को शुभ बनाएंगें।

नमस्कार!

पं हनुमान मिश्रा

More from: Jyotish
36829

ज्योतिष लेख