Jyotish RSS Feed
चंद्रग्रहण का राशियों पर प्रभाव Astrology

Pt. Rajesh Sharma

15 जून 2011 को होने वाला पूर्ण चन्द्र ग्रहण संपूर्ण भारत में दिखाई देगा। वर्ष 2005 में पन्द्रह दिनों में दो बार 8 अप्रैल और 24 अप्रैल को सूर्य और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़े थे तथा 03 अक्टूबर और 17 अक्टूबर को फिर दोबारा ग्रहण पडे थे। इस की वजह से प्राकृतिक आपदाओं ने भारी तबाही मचायी थी। साल 2005 और 2011 का अंत शनिवार के साथ होगा। 2005 में चंद्रमा धनु राशि में स्थित था तथा 2011 में यह मीन राशि में स्थित होगा। यह भी संयोग है की दोनों वर्ष का अंतिम दिन चंद्रमा गुरु के स्वामित्व वाली राशि में होगा सन् 2011 में 6 ग्रहण हैं जबकी 2005 में 4 ग्रहण हुए थे।

130 साल बाद पड़ेगा इतना लंबा चंद्रग्रहण Astrology

agency

पूनम के चांद की खूबसूरती का भला कौन कायल नहीं होगा लेकिन आपने पूनम का चांद ऐसा कभी नहीं देखा होगा जो धूमिल पड़ते-पड़ते कटने लगे और एक बिंदु पर आकर पूरा गायब तो नहीं लेकिन एक लाल या तांबई रंग के गोले में बदल जाए। कुछ ऐसा ही नजारा आज रात आसमान में घटने वाला है।

उल्लास से मनाया गया गंगा दशहरा Astrology

agency

देश में गंगा दशहरा के मौके पर शनिवार को हजारों लोगों ने गंगा में डुबकी लगाई और प्रार्थना कर दान-पुण्य किया।

शनि जयंती पर करें शनि को प्रसन्‍न Astrology

Pt. Rajesh Kumar Sharma

शनि देव को समस्त ग्रहों में सबसे शक्तिशाली ग्रह माना गया है, शनिदेव की जयन्ती 1 जून 2011 को है

मानव-समुदाय के कल्‍याण के लिए है : पंचक्रोशी यात्रा Astrology

agency

दुनिया के प्रमुख ज्योतिर्लिगों में से एक महाकालेश्वर की नगरी उज्जैन की पंचक्रोशी यात्रा को दिव्यशक्तियों के निकट ले जाने वाला माना जाता है। यात्रा सम्पूर्ण मानव-समुदाय के कल्याण के लिए निकाली जाती है। छह दिनों तक चलने वाली पंचक्रोशी यात्रा 118 किलोमीटर दूरी तय करते हुए तीन मई को समाप्त होगी।

जीवन की समस्याओं का निदान है वास्तु शास्त्र Astrology

Vijay Pathak

वास्तु शास्त्र भवन-निर्माण का विज्ञान है। वास्तु के आधार पर बना भवन ब्रह्माण्ड से सकारात्मक ऊर्जा को अपनी ओर आकर्षित करता है और भवन के अंदर ऊर्जा का संतुलन बना रहता है, जिससे वहाँ सुख, शांति, प्रगति और सौहार्द का माहौल उत्पन्न होता है।

शनि प्रदोष व्रत का महत्व Astrology

Punit Pandey

सनातन धर्म में प्रदोष व्रत का विशेष महत्व माना गया है। चैत्रादि प्रत्येक माह के शुक्ल और कृष्ण दोनों पक्षों के तेरहवें दिन अर्थात त्रयोदशी को प्रदोष व्रत कहलाता है और इस दिन किए जाने वाले व्रत को प्रदोष व्रत की संज्ञा दी गयी है।

दुर्गा पूजा में बालिका पूजन का महात्म्य Astrology

Vijay Pathak

नवरात्रि बालिका पूजन के बिना पूर्ण नहीं मानी जाती। हमारे शास्त्रों में बालिका पूजन को अत्याधिक अहमियत दी गई है। शास्त्रों के मुताबिक जिस जगह सभी कन्याओं की पूजा होती है,वह भूमि परम पावन है। विशेष बात यह कि बालिका पूजन में कहीं जाति का कोई भेद नहीं रखा गया और सभी कन्याओं को समान रुप से पूज्य माना गया।

अंकों के आइने में फिल्म 'गेम' का भविष्य Astrology

Vishwa R Nigam

विश्व कप का फाइनल दो अप्रैल को है और अभिषेक बच्चन व कंगना राणावत अभिनीत फिल्म ‘गेम’ एक अप्रैल को प्रदर्शित हो रही है। ऐसे में सवाल यही है क्या यह फिल्म टिकट खिड़की पर कुछ कमाल कर पाएगी? अभिषेक बच्चन की पिछली दो बड़ी फिल्में रावण और खेलें हम जी जान से बॉक्स ऑफिर पर औंधे मुंह गिर चुकी हैं,

किरण बेदी : चुनौतीपूर्ण हो सकता है आने वाला वक्‍त Astrology

Astrosage

पहली महिला पुलिस और मेगसेसे अवार्ड विजेता किरन बेदी को किसी परिचय की जरूरत नहीं। किरन बेदी अपने प्रभावशाली व्‍यक्तित्‍व और ईमानदारी के लिए विख्‍यात हैं। किरन बेदी का जन्‍म 9 जून 1949 को अमृतसर में कन्‍या लग्‍न में हुआ।

ज्योतिष लेख